Real Horror Story in Hindi रेगिस्तान की वो खौफनाक रात…

दोस्तों अगर आपको भी भूत- प्रेत और आत्माओं से जुड़ी रोमांचक real horror story in Hindi सुनना और पढ़ना अच्छा लगता है

तो ये कहानी आप जरूर पढ़े। मेरा यकीन मानिए की सच्ची घटना पर आधारित ये कहानी आपको बहुत अच्छी लगेगी।

ये कहानी है राजस्थान के जयपुर शहर में रहने वाले एक लड़के वैभव की। जो अपना ज्यादातक समय डिस्कवरी चैनल देखने में ही बिताया करता था।

बैर ग्रील्स का शो “Man Vs Wild” उसका फेवरेट शो था और उसी के चक्कर में उसने एक बार रोमांचक सफर का प्लान बनाना।

Real Horror image

real horror story in Hindi

एक बार वैभव और उसके एक दोस्त मुन्ना ने एक रात रेगिस्तान में बैर ग्रील्स स्टाइल में कैम्पिंग करने का सोचा। अपने रोमांचक सफर पर निकालने से पहले दोनों ने खाने पीने की सारी

चीजें, टेंट, चाकू, लाइटर और पानी भी साथ ले लिया। उसके बाद उन्होंने एक वीरान रेतीली जगह चुन कर वहीं पर अपना टेंट लगाया।

अब धीरे- धीरे वहां अंधेरा होने लगा था और ठंड बढ़ने लगी थी। तब दोनों ने आग जलाई और  खाना खा कर सोने की तैयारी करने लगे।

तभी अचानक वैभव और मुन्ना दोनों को टेंट से बाहर वहां किसी के होने का एहसास हुआ। तभी वैभव ने तुरंत टॉर्च निकाली और मुन्ना को बोला की कुछ तो गड़बड़ है बाहर।

 

रेतीली सुनशान जगह होने की वजह से वहां काफी अंधेरा था, कुछ भी नजर नहीं आ रहा था।

दोनों ने अपने- अपने हाथों में टॉर्च लिया और टेंट से बाहर निकले। बाहर आने पर उन्होंने देखा कि एक आदमी वहां बैठा हुआ है।

उस आदमी की पीठ उनकी ओर थी और धुआं निकल रहा था, शायद वो आदमी सिगार पी रहा हो। उस आदमी के आगे के बाल बहुत छोटे नजर आ रहे थे

और उसके सिर के पीछे एक लंबी सी चोटी बनी थी। वैभव और मुन्ना पहले तो थोड़े देर के लिए हैरत में पड़ गए की इस वीरान जगह में ये आदमी क्या कर रहा है।

लेकिन फिर उन्होंने थोड़ी देर बाद उस आदमी से पूछा कि वो कौन है और वहां क्या कर रहा है। वैभव और मुन्ना के काफी पूछने पर भी वो आदमी कुछ नहीं बोला।

real horror story in Hindi

उन्होंने उसे फिर से आवाज दी, तो उसने बिना कुछ बोले अपने हाथों में रेत उठाकर पीछे की तरफ उनपर फेंक दिया।

वैभव और मुन्ना को लगा कि वो कोई सिरफिरा इंसान होगा, इसलिए दोनों ने टेंट में जाने में ही भलाई समझी।

लेकिन कुछ देर उन्होंने देखा कि वो आदमी बैठे- बैठे ही पीछे की ओर यानी उनके टेंट की ओर बढ़ रहा है। ये देख वैभव और मुन्ना थोड़ा डर गए। दोनों ने उसे डराते हुए बोला कि वो वहां से

चला जाए नहीं तो उनके पास हथियार भी है। ये सुन वो वो आदमी धीमी आवाज़ में हसने लगा। अब तो वैभव का सब्र टूट चुका था।

real horror story in Hindi

वो और मुन्ना बाहर आये और दोनों ने उस आदमी को दोनों तरफ से घेर लिया और कहने लगे कि ‘साले को घसीट घसीट कर मारेंगे, रेत उड़ाता है ना आज इसकी हेकड़ी निकाल देते हैं।‘

जैसे ही दोनों उसके मुंह की तरफ गए, ऐसा मानो कि उनके तो होश ही उड़ गए।

उन्होंने देखाकि उस आदमी की आंखे ही नहीं थी, बल्कि काले गड्ढे थे।

उसके हाथों में कोई सिगार भी नहीं था, बल्कि उसकी आंखों के गड्ढों से धुआं निकाल रहा था।

Real Horror image

ये खौफनाक नजारा देख तो वैभव और मुन्ना जैसे सुन्न से पड़ गए। इतने घनघोर अंधेरे मे दोनों जाते भी तो कहां। इसलिए दोनों दौड़कर टेंट में घुस गए और एक- दूसरे को पकड़ लिया।

लेकिन अचानक वो चोटी वाला प्रेत उनकी तरफ आया और कुछ इशारा करने लगा। वैभव और मुन्ना को तो लगा कि आज उनकी ये आखिरी रात है।

लेकिन वो बिना आंखों वाला प्रेत बार- बार कुछ इशारा कर रहा था। तभी वैभव को लगा कि शायद इसे कुछ चाहिए।फिर वैभव ने देखा कि वो चादर की ओर इशारा कर रहा है,

तो उसने चादर और तकिया उसकी ओर फेंक दिया। उस प्रेत ने फौरन चादर ओढ़ ली और तकिया वापस उनकी ओर फेंक दिया।

real horror story in Hindi

कुछ देर तो वो वहीं आस- पास ही घूमता रहा, लेकिन फिर अचानक से ना जाने दौड़ता हुआ अंधेरे में कहां गुम हो गया।

फिर क्या था वैभव और मुन्ना ने थोड़ी राहत की सांस तो जरूर ली, लेकिन दोनों बहुत खौफ में थे और पूरी रात दोनों जागते रहे।

दोस्तों, शायद ये कहानी आपको फिल्मी लगे, लेकिन ये एक सच्ची घटना है। भूत- प्रेत से जुड़ी कुछ ऐसी ही सच्ची घटनाएं आपके पास भी हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं या मेल भी कर सकते हैं।

 

inspirational moral stories In Hindi जिंदगी को देखने का नजरिया बदल देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: