Real life motivational story in hindi लड़की ने साहूकार के साथ किया कुछ ऐसा।

Real life motivational story in hindi लड़की ने साहूकार के साथ किया कुछ ऐसा

आपने प्रेरणादायक कहानियां तो बहुत पढ़ी और सुनी होगी, लेकिन यकीन मानिए ये कहानी Real life motivational story in hindi आपको जीवन में आने वाली कठिनाईयों के वक्त कुछ अलग तरीके से उससे लड़ने के लिए प्रेरित करती है।

Real life motivational story in hindi

ये कहानी पढ़कर आप अपने जीवन में बहुत बड़ा बदलाव महसूस करेंगे। आपको भी लगेगा कि मुसीबतों के वक्त हमें घबराने के बजाए उससे लड़ने के बारे में विचार करना चाहिए।motivational story

 

एक समय की बात है, किसी गांव में एक व्यापारी ने गांव के ही साहूकार से कुछ पैसे कर्ज के रुप में ले रखे थे। व्यापारी साहूकार के पैसे देने में फिलहाल असमर्थ था। लेकिन चिड़चिड़ा और लालची स्वभाव का साहूकार व्यापारी की परेशानियों को समझने का नाम ही नहीं ले रहा था।

Real life motivational story in hindi

उसे अब बस किसी भी कीमत में अपने पैसे चाहिए थे। लालची साहूकार ने एक दिन व्यापारी से एक सौदा किया। उसने कहा कि अगर वो उसकी बेहद ही खूबसूरत बेटी से उसकी शादी करवा देता है तो साहूकार उसका सारा कर्ज माफ कर देगा।

motivational story

चिंतित व्यापारी ने साहूकार की ये शर्त्त अपनी बेटी को बताई। साहूकार की ये बात सुन व्यापारी और उसकी बेटी दोनों काफी ज्यादा परेशान हो गए।

Real life motivational story in hindi

एक दिन साहूकार व्यापारी के पास आया और उसने व्यापारी के सामने प्रस्ताव रखा कि वो एक खाली बैग में सफेद और काले रंग के दो कंकड रखेगा। उसकी बेटी को बैग में से एक कंकड़ निकालना होगा।

अगर उसकी बेटी ने काला कंकड़ निकाला तो उसकी शादी साहूकार से हो जाएगी और उसके पिता का सारा कर्ज माफ कर दिया जाएगा।

अगर लड़की ने सफेद कंकड़ निकाला तो उसकी शादी साहूकार से नहीं होगी और उसके पिता का सारा कर्ज भी माफ कर दिया जाएगा, लेकिन अगर उसने कंकड़ निकालने से मना कर दिया तो, दोनों को जेल भी जाना पड़ेगा और कर्ज की भरपाई भी करनी पड़ेगी।

Real life motivational story in hindi

व्यापारी और उसकी बेटी के पास अब कोई विकल्प नहीं बचा था, इसलिए दोनों ने साहूकार का प्रस्ताव मानने के लिए हामी भर दी। तीनों एक कंकड़ भरे रास्ते पर पहुंचे।

साहूकार का कंकड़ उठाने के लिए नीचे झूका और उसने बड़े ही चालाकी से दोनों काले कंकड़ उठा कर खाली बैग में डाल दिया। लेकिन लड़की की नजरों से साहूकार की चालाकी बच ना सकी, उसने साहूकार को ऐसा करते देख लिया था। अब साहूकार ने लड़की को बैग में से एक कंकड़ निकालने को कहा।

Real life motivational story in hindi

लड़की पहले तो थोड़ा सोचने लगी। फिर उसने बैग में हाथ डाला और कंकड़ को निकालते ही नीचे गिरा दिया। अब वो कंकड़ नीचे गिर कर सारे कंकड़ों के साथ मिल गया। उस लड़की ने तुरंत कहा- ओह, मेरे हाथ से तो कंकड़ नीचे गिर गया, लेकिन कोई बात नहीं।

बैग में एक और कंकड़ पड़ा है, उसे देख कर हम ये पता लगा सकते हैं कि मैंने कौन से रंग का कंकड़ निकाला था। लड़की बैग में से दूसरा कंकड़ निकालते हुए कहती है कि ये तो काला कंकड़ है, इसलिए मैंने सफेद रंग का कंकड़ बाहर निकाला था।

अब क्या था साहूकार भी उसके आगे कुछ ना बोल सका और धोखेबाजी करने की उसकी हिम्मत भी नहीं हुई। लड़की ने बड़े ही चतुराई से खुद को भी बचा लिया और अपने पिता का कर्ज भी माफ करवा लिया।

Real life motivational story in hindi

इसलिए दोस्तों इस कहानी से हमें यही सीख मिलती है कि परेशानी कितनी भी बड़ी क्यों ना हो, उसका हल जरूर होता है। मुसीबत के वक्त बिना घबराए अगर हम थोड़ा संयम बरतें, तो हमें उससे निकलने का कोई ना कोई रास्ता जरूर मिल जाता है।

अगर आपको भी कहानी लिखने का शौक है तो आप अपनी कहानी हमें यहां क्लिक करके भेज सकता है आप की कहानी पसंद आई तो हम आप की कहानी को अपनी साइट पर आपके नाम के साथ डालेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: