Barish Shayari in hinid | Rain shayari | 30+ बरसात शायरी हिंदी।

shayari on barish

suna hai bahut baarish hai tumhaare shahar mein,
jyaada bheegana mat,
agar dhool gaee saaree galataphahamiyaan,
to phir bahut yaad aaenge ham.
सुना है बहुत बारिश है तुम्हारे शहर में,
ज्यादा भीगना मत,
अगर धूल गई सारी गलतफहमियां,
तो फिर बहुत याद आएंगे हम।

barsaat shayari image


mohabbat to vo baarish hai,
jisase chhoone kee chaahat main,
hatheliyaan to geelee ho jaatee hai,
par haath khaalee hee rah jaate hai.
मोहब्बत तो वो बारिश है,
जिससे छूने की चाहत मैं,
हथेलियां तो गीली हो जाती है,
पर हाथ खाली ही रह जाते है।

Rain shayari

barasaat kee bheegee raaton mein,
phir se koee suhaanee yaad aaee,
kuchh apana jamaana yaad aaya,
kuchh unakee javaanee yaad aaee.
बरसात की भीगी रातों में,
फिर से कोई सुहानी याद आई,
कुछ अपना जमाना याद आया,
कुछ उनकी जवानी याद आई।

Rain quotes image


unakee yaad kuchh aise sataane lagee,
baarish ban kar dil ko bhigone lagee,
vo door hai ham se itana phir bhee
paas hone ka ehasaas dilaane lagee !!
उनकी याद कुछ ऐसे सताने लगी,
बारिश बन कर दिल को भिगोने लगी,
वो दूर है हम से इतना फिर भी,
पास होने का एहसास दिलाने लगी!!

ye mausam bhee kitana pyaara hai,
karatee ye havaen kuchh ishaara hai,
jara samajho inake jajbaaton ko,
ye kah rahee hain kisee ne dil se pukaara hai.
ये मौसम भी कितना प्यारा है,
करती ये हवाएं कुछ इशारा है,
जरा समझो इनके जज्बातों को,
ये कह रही हैं किसी ने दिल से पुकारा है।

Rain hindi quotes image


Rain shayari hindi

baarish bhee ho rahee thee,
bigana bhee chaahata tha,
magar kya kar paata tab,
man khud hee barasane ko tha
बारिश भी हो रही थी,
बिगना भी चाहता था,
मगर क्या कर पाता तब,
मन खुद ही बरसने को था।

poochhate ho na mujhase tum hamesha,
kee me kitana pyaar karata hoo tumhe,
to gin lo barasatee huee in boondo ko tum.
पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा,
की मे कितना प्यार करता हू तुम्हे,
तो गिन लो बरसती हुई इन बूंदो को तुम।

barish par shayari image


Rain 2 line shayari

Ye mausam baarish ka ab pasand nahin mujhe,
Aansoo hee bahut hain mere bheeg jaane ke lie .
ये मौसम बारिश का अब पसंद नहीं मुझे,
आंसू ही बहुत हैं मेरे भीग जाने के लिए।

Khwahishein to thi tere sang barish me bhigne ki,
Par gamon ke badal kabhi chhate hi nahi.
ख्वाहिशें तो थी तेरे संग बारिश में भीगने की,
पर ग़मों के बादल कभी छाते ही नहीं।

2 line barish shayari image


tujhase ab baat tak karane ko taras gae hain ham,
bin mausam huee baarish kee tarah baras gae hai ham.
तुझसे अब बात तक करने को तरस गए हैं हम,
बिन मौसम हुई बारिश की तरह बरस गए है हम!

2 line Rain shayari

12shaayad koee khvaahish rotee rahatee hai,
mere andar baarish hotee rahatee hai
शायद कोई ख्वाहिश रोती रहती है,
मेरे अन्दर बारिश होती रहती है

barish shayari in hindi image

door tak chhae the baadal aur kaheen saaya na tha,
is tarah barasaat ka mausam kabhee aaya na tha.
दूर तक छाए थे बादल और कहीं साया न था,
इस तरह बरसात का मौसम कभी आया न था।


Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: